Saturday , 25 May 2019
Loading...
Breaking News

आकर्षक पारी से नगालैंड को 45 गेंद शेष रहते हुए सात विकेट से हराया

दिल्ली ने सुबोध भाटी (14 रन देकर चार विकेट) की शानदार गेंदबाजी और सलामी बल्लेबाज हितेन दलाल की 81 रन की आकर्षक पारी से नगालैंड को 45 गेंद शेष रहते हुए सात विकेट से हराया। भाटी की बेहतरीन गेंदबाजी से दिल्ली ने नगालैंड को 19.4 ओवर में 118 रन पर समेट दिया। नगालैंड की तरफ से सलामी बल्लेबाज आदित्य ने सर्वाधिक 64 रन बनाये। नितीश राणा ने तीन ओवर में दस रन के एवज में दो विकेट लेकर भाटी का अच्छा साथ दिया।

दिल्ली ने केवल 12.3 ओवर में तीन विकेट पर 119 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की। दलाल ने 40 गेंद की अपनी पारी में छह चौके और सात छक्के लगाये। उन्होंने हिम्मत सिंह (नाबाद 23) के साथ तीसरे विकेट के लिए 93 रन की साझेदारी की। दिल्ली की यह छह मैचों में पांचवीं जीत है जिससे उसने 20 अंकों के साथ लीग चरण के अभियान का अंत किया। झारखंड के भी 20 अंक रहे और बेहतर रन गति के आधार पर वह ग्रुप ए से शीर्ष पर रहा।

झारखंड ने एक अन्य मैच में केरल को पांच विकेट से हराया। इन दोनों टीमों को आगे बढ़ने के लिए जीत की दरकार थी। केरल ने छह विकेट पर 176 रन बनाये। उसकी तरफ से कप्तान सचिन बेबी ने 36, आरएस कुन्नुमल ने 34 और वी मनोहरन ने 31 रन बनाये। झारखंड की तरफ से राहुल शुक्ला और विकास सिंह ने दो-दो विकेट लिए।

झारखंड ने 19.1 ओवर में पांच विकेट पर 180 रन बनाकर जीत दर्ज की। सलामी बल्लेबाज आनंद सिंह (72) और विराट सिंह (46) ने दूसरे विकेट के लिए 71 रन जोड़े लेकिन वह अनुभवी सौरभ तिवारी थे जिन्होंने 24 गेंदों पर दो चौकों और पांच छक्कों की मदद से नाबाद 50 रन बनाकर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया।

इसी ग्रुप के एक अन्य मैच में आंध्र ने मणिपुर को 91 रन से पराजित किया। आंध्र ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 252 रन बनाये। इसके जवाब में मणिपुर की टीम पांच विकेट पर 161 रन ही बना पायी। ये दोनों टीमें सुपरलीग की दौड़ से पहले ही बाहर हो गयी थी।

खराब मौसम और बारिश के कारण सैयद मुश्ताक अली टी20 ट्राफी के ग्रुप ई के चारों मैच बुधवार को यहां पूरे नहीं हो पाये। उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र ने इस ग्रुप से सुपरलीग में जगह बनाई। मैच पूरे नहीं हो पाने के कारण सभी टीमों को दो . दो अंक मिले। उत्तर प्रदेश और बड़ौदा का मैच केवल 12.1 ओवर तक संभव हो पाया। बड़ौदा ने तब दो विकेट पर 76 रन बनाये थे। महाराष्ट्र और त्रिपुरा का मैच आठ-आठ ओवर का कर दिया गया था। इसमें भी केवल चार ओवर का खेल हो पाया जिसमें महाराष्ट्र ने तीन विकेट पर 50 रन बनाए।

उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र ने सात में से पांच-पांच मैच जीते जबकि एक मैच अनिर्णीत छूटा। इस तरह से उनके 22-22 अंक रहे लेकिन उत्तर प्रदेश बेहतर रन गति के आधार पर ग्रुप ई से शीर्ष पर रहकर सुपरलीग में पहुंचा। उत्तराखंड और हैदराबाद तथा सेना और पुदुच्चेरी के मैच भी बारिश की भेंट चढ़े। सेना और उत्तराखंड के समान 18-18 अंक रहे और वे ग्रुप से क्रमश: तीसरे और चौथे स्थान पर रहे और सुपरलीग में नहीं पहुंच पाए।

loading...