Saturday , 25 May 2019
Loading...
Breaking News

असंगठित एरिया के कामगारों के लिए पीएम मोदी करेंगे इस योजना की आरंभ

प्रधामंत्री मोदी मंगलवार (5 मार्च) को असंगठित एरिया के कामगारों के लिए पेंशन योजना की आरंभ करेंगे की औपचारिक आरंभ अहमदाबाद में की जाएगी 1 फरवरी को अंतरिम बजट पेश करते हुए ने असंगठित एरिया के मजदूरों के लिए पेंशन योजना प्रारम्भ करने का ऐलान किया था इसके तहत कामगरों को 60 वर्ष की आयु के बाद हर महीने 3000 रुपये मासिक पेंशन दी जाएगी योजना के बारे में अधिसूचना पहले ही जारी की जा चुकी है

योजना के लिए 3.13 लाख साझा सेवा केंद्र बनाए
इस योजना से जुड़ने के लिए देशभर में कुल 3.13 लाख साझा सेवा केंद्र बनाए गए हैं 15 फरवरी से इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया चल रही है योजना को अंतिम रूप देने की जिम्मेदारी को मिली है योजना के तहत रजिस्ट्रेशन के लिए एलआईसी के बड़े नेटवर्क का प्रयोग किया जा रहा है इसके तहत असंगठित एरिया के 18 से 40 साल की आयु के कामगार योजना को अपनाने के पात्र होंगे योजना से जुड़ने वाले कामगारों को उनके अंशदान पर 60 साल की आयु के बाद 3,000 रुपये मासिक पेंशन दी जाएगी

इतना देना होगा प्रीमियम
जानकारी के अनुसार स्वघोषणा के आधार पर योजना के लाभार्थियों की सूची तैयार की जाएगी पेंशन का फायदा लेने के लिए गवर्नमेंट ने कुछ शर्तें रखी हैं यदि कोई लाभार्थी 18 वर्षकी आयु में इस स्कीम में भाग लेता है तो उसे 55 रुपये प्रीमियम के तौर पर देना होगा 29 वर्ष की आयु में योजना का भाग बनने पर 100 रुपये मासिक का प्रीमियम देना होगा 40 वर्ष की आयु में जुड़ने वालों को 200 रुपये का मासिक अंशदान करना होगा इस योजना से असंगठित एरिया के करीब 10 करोड़ कामगरों को लाभ मिलने की उम्मीद है

योजना के तहत पंजीकरण कराने वालों को विशिष्ट आईडी नंबर भी जारी किया गया है बजट सम्बोधन के दौरान पीयूष गोयल ने बोला था कि गवर्नमेंट की तरफ से असंगठित एरियाके कर्मचारियों को रिटायरमेंट के बाद न्यूनतम पेंशन की गारंटी दी जाएगी गवर्नमेंट की तरफ से प्रारम्भ की गई इस योजना का लाभ ऐसे मजदूरों को मिलेगा जिनकी महीने की आमदनी 15 हजार रुपये से कम है गवर्नमेंट के इस कदम का लाभ घरों में कार्य करने वाली मेड, ड्राइवरों, प्लबंर, रिक्शा चालकों  बिजली का कार्य करने वाले कामगारों को मिलेगा

loading...